हॉस्टल का पहला दिन
Posted by
Posted in

हॉस्टल का पहला दिन

लेखक – डॉ संगीता झा सब संयोग ही तो है। न कालेज में स्टांइक होती, न सुनीति को एक अनोखी रैगिंग का सामना सिर्फ एक दिन के लिए ही करना पड़ता, न सुनीति को सही माप के कपड़े सिलाने का समय मिलता, न उस रैगिंग से सबक लेकर वो एक आज्ञाकारी सुनीति बनने का प्रण लेती, […]

कॉलेज एडमिशन
Posted by
Posted in

कॉलेज एडमिशन

लेखक – डॉ. संगीता झा आखिर आज वो दिन आ ही गया जब सुनीति को पापा के साथ एडमिशन के लिए मेिडकलकालजे जानाथा।रात भर सनुीति बिस्तर में करवटें बदलती रही। कसैे हागेा वो कालेज….वो प्रिंसिपल का आफिस क्या सुनीति खुशी से पागल हो रही थी…. कल कौन-सी डेंस पहनूंगी…..चीखने को दिल चाह रहा था। आंखें बंद कर […]