Posted by
Posted in

रानी दुर्गावती

जन्म 5 अक्टूबर, 1524 जन्म भूमि बांदा, उत्तर प्रदेश मृत्यु 24 जून, 1564 मृत्यु स्थान अचलपुर, महाराष्ट्र जीवन परिचय वीरांगना महारानी दुर्गावती कालिंजर के राजा कीर्तिसिंह चंदेल की एकमात्र संतान थीं। महोबा के राठ गांव में 1524 ई. की दुर्गाष्टमी पर जन्म के कारण उनका नाम दुर्गावती रखा गया। नाम के अनुरूप ही तेज, साहस, […]

Posted by

नालन्दा विश्‍वविद्यालय – पुरातन ज्ञान केंद्र

नालन्दा विश्‍वविद्यालय – प्राचीन भारत में उच्च् शिक्षा का सर्वाधिक महत्वपूर्ण और विख्यात केन्द्र था। बिहार के नालन्दा ज़िले में एक नालन्दा विश्‍वविद्यालय था, जहां देश – विदेश के छात्र शिक्षा के लिए आते थे। आजकल इसके अवशेष दिखलाई देते हैं। पटना से 90 किलोमीटर दूर और बिहार शरीफ़ से क़रीब 12 किलोमीटर दक्षिण में, […]

Posted by

भगवतीचरण वर्मा

जीवन परिचय हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्यकार भगवतीचरण वर्मा का जन्म 30 अगस्त, 1903 ई. में उन्नाव ज़िले, उत्तर प्रदेश के शफीपुर गाँव में हुआ था। इन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से बी.ए., एल.एल.बी. की परीक्षा उत्तीर्ण की। भगवतीचरण वर्मा जी ने लेखन तथा पत्रकारिता के क्षेत्र में ही प्रमुख रूप से कार्य किया। इसके बीच-बीच में इनके […]

Posted by
Posted in

आज तुम शब्द न दो

आज तुम शब्द न दो, न दो, कल भी मैं कहूँगा। तुम पर्वत हो अभ्रभेदी शिलाखंडों के गरिष्ठ पुंज चाँपे इस निर्झर को रहो, रहो। तुम्हारे रंध्र-रंध्र से तुम्हीं को रस देता हुआ फूटकर मैं बहूँगा। तुम्हीं ने दिया यह स्पंद। तुम्हीं ने धमनी में बाँधा है लहू का वेग यह मैं अनुक्षण जानता हूँ। […]

Posted by

काँगड़े की छोरिया

काँगड़े की छोरियाँ कुछ भोरियाँ सब गोरियाँ लालाजी, जेवर बनवा दो खाली करो तिजोरियाँ काँगड़े की छोरियाँ। ज्वार-मका की क्यारियाँ हरियाँ-भरियाँ-प्यारियाँ धान खेतों में लहरें हवा की सुना रही हैं लोरियाँ काँगड़े की छोरियाँ। पुतलियाँ चंचल कलियाँ कानों झुमके बालियाँ हम चौड़े में खड़े लुट गए बनी न हमसे चोरियाँ- काँगड़े की छोरियाँ काँगड़े की […]

Posted by
Posted in

जब भी तेरी गली से गुजरे हम

जब भी तेरी गली से गुजरे हम … तेरी याद की सड़क पर उखड़ा हो जैसे एक पत्थर और दिल की गाड़ी को लगा हो जोर का झटका और स्मृतियों के गले से उतर आया नीचे कुछ हसीं लम्हों का निवाला जब भी तेरी गली से गुजरे हम … जैसे काँटों में उलझ गया हो […]

Posted by
Posted in

Strange are the ways of life

Dear Life, strange are your ways, You never cease to amaze me, bewilder me, sometimes even inspire me, Feels like I have gone through your full circle, met you, known you, lived every moment of yours. Alas, I am wrong. You prove me wrong every time. You bring me back to the forgotten alleys of […]

Posted by

How to be Happy Always!!

1. आज में जीते हैं कभी अपने दिमाग में चल रहे विचारों को गौर से देखें। आप या तो बीती बात को सोच रहे होते हैं या भविष्य की प्लानिंग कर रहे होते हैं। इससे मन में गिल्ट और पछतावा जैसे भाव पैदा करती हैं और भविष्य की बातें चिंता और डर। खुश रहने वालों […]

Posted by
Posted in

UP, Bihar bitten by the English bug

No. of kids studying in English doubles in 5 years Fastest Growing Medium; Biggest Rise In Bihar, UP  Politicians might try hard to push Hindi, but people are voting with their feet, opting to put their children in English- medium schools. While overall enrolment in schools went up by just 7.5% between 2008-09 and 2013-14, […]