Posted by

अपनी तो निकल पड़ी

फर्स्ट टमिर्नल परीक्षाएं हो गयी थीं आरै कॉलेज एक महीने के लिए बदं था। रिजल्ट भी ठीक-ठाक ही था, लेकिन इस बार बाबूजी अम्मा किसी से नहीं कह पा रहे थे कि सुनीति अपराजिता है। कक्षा में सर्वप्रथम आयी है क्योंकि यहां तो सभी सुनीति थे या उससे बढ़कर। इन छुट्टियों में सुनीति का मन ही घर […]