कुछ खट्टी कुछ मीठी
Posted by

कुछ खट्टी कुछ मीठी

लेखक – डॉ संगीता झा हास्टल के दरवाजे पर जूनियर्स का स्वागत करने के लिए हास्टल में रहने वाली सीनियर्स के अलावा डे स्कालर्स (घर से कालेज आने वाले) सीनियर लड़कियां भी थीं। सबकी जुबान पर बस एक नाम था सुनीति चौहान। जो भीड़ में सिर झुकाए खड़ी जरूर थी, पर अपने कुरते से अपनी सुड […]